power of pawar

Imageदेश में पिछले दो साल में इतना कुछ कहा सुना गया लेकिन आश्चयॆ है पावर साहब खामोश रहे।शायद इसलिये क्योकि भ्रष्टाचार पर बोला जा रहा था।वैसे भी पावर साहब राजनिति के उस्ताद कहे जाते है।उन्हें मालूम हेता है कि कब बोलना है कब पावर दिखानी है।एक ऐसा खिलाङी जिसके पास हर तरह के तकॆ होते है केन्द्र में बने रहने के लिये।यही वो समय है जहॉ अब हम पवार की पावर व लालू का लय में आना देखेगें।पवार इस समय रियाज में मस्त है…राग दरवारी …”.PARTIES COME AND GO PAWAR ALWAYS STAY IN POWER”